main-job ×
  • info@hpsshergarh.org
  • +91-1668229327, 230327

PRESS NOTE TEACHER’S DAY AT HPS

शेरगढ एचपीएस सीनियर सैकण्डरी स्कूल में आज गणेश उत्सव व अध्यापक दिवस एक साथ हर्षोल्लास के साथ मनाए गए। जहां नटखट की ओर से विद्यालय के हारमॅनी, गलौरी, पीस तथा प्राइड हाऊस की और से गणपति के चित्रों की सज्जा की प्रतियोगिता करवाई गई और सभी ने जिस बाखूबी से इन चित्रों को सजाया वह देखते ही बनता था। इस अवसर जयश्री व जश्न की टीम ने गणपति बाप्पा मोरया के गीत पर नृत्य प्रस्तुत किया। विद्यालय की ओर से समूचे स्टाफ के द्वारा गणपति की प्रतिमा की विधिवत् स्थापना की गई और मंगलाचरण गाए गए।
विद्यालय के सभी अध्यापक-अध्यापिकाओं ने शिक्षक दिवस पर शपथ ग्रहण की कि वे विद्यार्थियों के चहुँमुखी विकास में भागीदार बनेंगे। सभी ने उस परमपिता परमात्मा का भी आभार व्यक्त किया जिसकी कृपा से वे इस समाज की सेवा व राष्ट्र निर्माण के कार्य करने का अवसर मिला है। खेल-खेल में शिक्षा उपलब्ध करवाने के साथ-साथ विद्यार्थियों का नैतिक विकास भी करेंगे। समूचे अध्यापकवृन्द ने माना कि अध्यापक का कार्य तो रेगिस्तान में फूल खिलाना होता है।
इस अवसर विद्यालय निदेशक आचार्य रमेश सचदेवा ने कहा कि गणपति के कानों से हमें ध्यान पूर्वक श्रवण करने की आदत डालनी चाहिए और मूशक की सवारी का अर्थ है कि हमें किसी को भी छोटा अथवा नीच नहीं समझना चाहिए। अच्छे शिक्षक अच्छे विद्यार्थीयों से ही बनते हैं। रामकृष्ण परमहंस, मूलशंकर, द्रौणाचार्य, वशिष्ठ, कृपाचार्य, शंकराचार्य आदि-आदि गुरूजन अपने शिष्यों के कार्यों के कारण ही पहचाने जाते हैं।
उन्होंने कहा कि अध्यापक दिवस का अर्थ अध्यापकों के संकल्प का दिवस है जिससे वे अपने कार्यों को राष्ट्र विकास के लिए समर्पित करें। जहां सरकारें शिक्षा को राजनीति का मुद्दा बनाकर इसका बंटाधार कर रही हैं वहीं कुछ अध्यापकों ने भी इस कार्य में सारे शिक्षक वर्ग का सिर नीचे झुकाया है। शिक्षक ही राष्ट्र की संस्कृति के चतुर माली
है व शिक्षक ही समाज के वास्तविक शिल्पकार होते हैं। बालक के जीवन को सफल बनाने की आधारशिला हमें बचपन में ही रखनी चाहिए और उद्देश्यपूर्ण शिक्षा के माध्यम से ही एक सुन्दर एवं सभ्य समाज का निर्माण संभव है, प्रत्येक बालक को विश्व का प्रकाश बनाये।
उद्देश्यपूर्ण शिक्षा ही समाज में व्याप्त बुराईयों को समाप्त करती है। शिक्षकों के श्रेष्ठ मार्गदर्शन द्वारा ही धरती पर ईश्वरीय सभ्यता की स्थापना संभव है।
इस अवसर गगनदीप कौर, पूजा, शिक्षा, अनमोल, संदीप कौर, कैनरी, जश्न, जयश्री व चरणकमल ने नटखट की ओर से सभी अध्यापकों को शपथ पत्र भेंट किए।

 

cc07328f-b3ec-4474-8dda-48a26d2f40a2 6bec9477-3f7a-4bc7-b4d7-39aef0cc8482 DSCN0360 DSCN0361 7867b588-c650-4483-835e-81753fb6e19a 251a19d7-2fe5-4a81-b548-6407ebaa0e4a DSCN0370 DSCN0434 DSCN0433

Got Something To Say:

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*